Featured

Words Of Chandan

This is the post excerpt.

Advertisements

On this platform to pursue the passion towards writing , to touch your heart and soul , to take this passion to the next level of imagination . need your love & support . hold my hand where i’m weak , be with me with full of your love and blessings.

yours

Chandan Sharma

बहुत अरमान हैं परिंदे तेरे ,
चंदन समझता है ,
मगर उस कारीगर का क्या ….?
जो बस पिंजरा बनाता है…

post

अटल मरा नहीं करते ..

युग जिनके अवतरणो को अपनी बांहें फैलाते हैं
पथ जिनके पदचिन्हों को सर आँखों पे सजाते हैं
जिनकी राहें तकती रहतीं शिखाएं पर्वतमालों की
ऐसे रणकौशल शूरवीर इतिहास रचाने आते हैं

अटल मरा नहीं करते अटल अमर कहलाते हैं….

सच कहूं तो …

तुम्हारी जगह अब

एक दर्द रहता है सच कहूं तो , हाँ तुमने सही समझा मेरे दिल में ,

और साथ रहता है ,

तुम्हारे लौटकर आने की उम्मीद में पनपा हुआ एहसास सच कहूं तो ,

छेड़ता है हर अकेली सांस को आने से जाने से सच कहूं तो ,

पूछता है हर धडकती आवाज से की कबतक यूँ हि चलना है अकेले ,

बेवजह सच कहूं तो बेवजह …।

नयी डायरी page 1

मैं जब भी कलम उठाता हूँ न जाने क्या लिख जाता हू । अहसासों की नन्ही तितलियाँ ज़हन से अचानक उडकर शब्दों की रंगोली भर जाती हैं।

हर नजारा अपने वजूद को किसी विज्ञापन की तरह आखों की स्क्रीन पर जैसे टेलीकास्ट करता है ।

कुछ ऐसे लमहे होते हैं जेहन में जो अपनी बारी आने का बेसब्री से इंतजार करते हैं और जैसे ही यादों की भटकती ट्रेन गुजरती है अपनी सीट लपक लेते हैं ।

और इस तरह आ जाते हैं डायरी के पन्नों पर।

Tiger zinda hai…”राष्ट्रगान हम शर्मिंदा हैं”

हाँ भाई टाइगर, हमें तो पहले ही पता था तुम जिंदा हो ।

और तुम ऐसे मरने वाले भी नहीं हो , अभी तो तुम्हें न जाने कितनी फिल्मों का उद्धार करना है ।

और भाई टाइगर जिंदा हो ये तो अच्छी बात है लेकिन तुम्हारे जिंदा होने कि खुशी से ज्यादा दुख  इस बात का है 

कि तुम्हारी पिक्चर में जब “जन गण मन” हुआ तो कुछ लोग और आराम से अपनी कुर्सियों पर पसर गये ,

और भाई टाईगर मत पूछना कि कौन थे क्योंकि कहीं न कहीं … 

तुम्हारे जिंदा होने कि खुशी दुगुनी हो जाती अगर हमारे अगली सीट पर बैठे वो चार हिंदुस्तानी भाई भी राष्ट्रगान के और देश के सम्मान में 52 सेकेंड के लिए अपनी टांगों को तकलीफ देने की हिम्मत कर लेते ।

कोई बात नहीं भाई टाईगर तुम जिंदा रहना । दुखी हुआ तुम्हारी फिल्म के शुरुआती 52 सेकेंड की हकीकत से ।

अपनी अंटी छत पंखा फिट कर लेती है !

अपनी अंटी छत पंखा फिट कर लेती है

 कोई मामूली खेल नी है भिया छत पंखा फिट करना 

पर ईस बार तार उलटे जोड दिये थे तो 

वो भी उलटा हि फिरने लगा हालांकि

 दूसरे प्रयास में सीधा चल गया है, दूसरा वाला ।

पहला वापस पैक होकर पुराने डिब्बे में कैद हो गया है और साल छः महीनों के लिए ।।